Search
Close this search box.

WFI chief BJP MP Brij Bhushan Singh on allegation of wrestlers matter in Supreme Court will decide “उसके अपराध की सजा मिले”, पहलवानों के आरोप पर WFI के अध्यक्ष बोले- कोर्ट ही तय करेगा

Share this post

भारतीय कुश्ती संघ के चीफ बृजभूषण शरण सिंह- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO
भारतीय कुश्ती संघ के चीफ बृजभूषण शरण सिंह

भारतीय कुश्ती संघ के प्रमुख और बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ पहलवानों ने एक बार फिर मोर्चा खोला है। पहलवान उत्पीड़न की जांच के लिए बनाई गई कमेटी की रिपोर्ट सार्वजनिक करने की मांग को लेकर रविवार से जंतर मंतर पर धरने पर बैठे हैं। पहलवानों ने बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न के मामले में FIR दर्ज करने की मांग को लेकर भी सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। इस याचिका पर सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट तैयार हो गया है। साथ ही कोर्ट ने याचिका पर दिल्ली पुलिस से जवाब मांगा है। इस मामले में शुक्रवार को सुनवाई होगी। इस बीच, पहलवानों के आरोपों के सवाल पर बृजभूषण शरण सिंह ने कहा कि मामला सुप्रीम कोर्ट में है, तो कोर्ट ही फैसला करेगा। 

‘रिपोर्ट पर जबरदस्ती साइन कराए गए’

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद जंतर-मंतर पर धरना दे रहे पहलवानों ने प्रेस कॉन्फ्रेस करते हुए कहा, “जिन लड़कियों ने शिकायत दर्ज की है उनकी जान को खतरा है। फेडरेशन के लोग उनके घरों पर पैसा लेकर पहुंच रहे हैं, हमें तोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। पुलिस किस दबाव में है। कमेटी के मेंबर्स में आपस में सहमति नहीं थी, रिपोर्ट सबमिट कैसे हुई।” बबीता ने बताया कि रिपोर्ट पर उससे जबरदस्ती साइन कराए गए। 

‘हम चुनाव के लिए ये सब नहीं कर रहे’

पहलवानों ने कहा, “कोर्ट के हमेशा आभारी रहेंगे, जो उन्होंने महिलाओं के मामले में संज्ञान लिया। खेल में अगर राजनीति होती रही, तो ऐसे ही शोषण होता रहेगा।” उन्होंने कहा, “हम चुनाव के लिए ये सब नहीं कर रहे। हमें खुले में सोने का शौक नहीं। हमें जरूरत पड़ी और जिन्होंने दबाव बनाया है हम उनके नाम भी मीडिया के सामने लेंगे। हमारी मांग है कि उसके अपराध की सजा उसे मिले। हम सिर्फ सुप्रीम कोर्ट के सामने जाएंगे।”

इससे पहले भी पहलवानों ने दिया था धरना 

गौरतलब है कि 18 जनवरी को दिल्ली के जंतर-मंतर से ऐसी तस्वीर सामने आई थी, जिसने सभी को चौंका दिया था। नेशनल और इंटरनेशनल लेवर पर कई मेडल अपने नाम कर चुके करीब 20 रेसलर्स ने भारतीय कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ मोर्चा खोला था। रेसलर्स ने महिला पहलवानों का यौन उत्पीड़न, अभद्रता और क्षेत्रवाद जैसे गंभीर आरोप लगाए थे। प्रदर्शन करने वाले पहलवानों में ओलंपिक विजेता बजरंग पूनिया, साक्षी मलिक, विनेश फोगाट, सरिता मोर और सुमित मलिक जैसे बड़े नाम शामिल थे।

इसके बाद मामले में खेल मंत्रालय ने हस्तक्षेप किया था। मंत्रालय की सिफारिश के बाद पहलवानों ने अपना धरना खत्म कर दिया था। इस दौरान मंत्रालय की ओर से इन आरोपों की जांच के लिए कमेटी का गठन किया गया था। अब तीन महीने बाद 23 अप्रैल से पहलवानों ने फिर से मोर्चा खोला है। पहलवानों ने अब खेल मंत्रालय की ओर से बनाई गई कमेटी पर भी सवाल उठाए हैं।  

Latest India News

Source link

Leave a Comment

ख़ास ख़बरें

विंध्याचल मंदिर से मुंडन संस्कार कराकर वापस जा रही बुलारो गाड़ी,खजुरी बाजार के पास खड़ी डंपर में जा भिड़ी, 10 लोग घायल

विंध्याचल मंदिर से मुंडन संस्कार कराकर वापस अपने घर तारुन जा रहे थे तभी खजुरी बाजार के पास खड़ी डंपर में टकरा गई…. भीटी अंबेडकर

Read More »

पुलिस आयुक्त, प्रयागराज द्वारा जनपद में VVIP आगमन, भ्रमण एवं जनसभा कार्यक्रम के दृष्टिगत दिए गए आवश्यक दिशा-निर्देश…..

  प्रयागराज मे पुलिस आयुक्त, प्रयागराज द्वारा जनपद में वीवीआईपी आगमन, भ्रमण एवं जनसभा कार्यक्रम के दृष्टिगत रिजर्व पुलिस लाइन सभागार में डी-ब्रीफिंग की गयी…..

Read More »

उत्तर मध्य रेलवे द्वारा,अनियमित यात्रा और स्टेशन परिसर/गाड़ी में गंदगी फ़ैलाने वाले 65 यात्रियों क़ो किया चालान

प्रयागराज से कानपुर सेन्ट्रल के मध्य 05 सुपरफास्ट गाड़ियों, 15483 अलीपुर द्वार-नई दिल्ली सिक्किम महानंदा एक्सप्रेस, 12311 हावड़ा-कोलकाता नेताजी सुपरफास्ट एक्सप्रेस, 12506 आनंद विहार टर्मिनल-कामाख्या

Read More »

ताजातरीन