Search
Close this search box.

Bihar Bahubali Anand Mohan will be released from jail given big statement on mayawati । जेल से रिहा होंगे बाहुबली आनंद मोहन, बोले-बिहार सरकार या MLA बेटे की वजह से नहीं मिली रिहाई

Share this post

bihar bahubali anand mohan- India TV Hindi
Image Source : FILE PHOTO
जेल से रिहा होने से पहले गरजे बाहुबली आनंद मोहन

पटना: गोपालगंज के जिलाधिकारी जी कृष्णैया की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहे बिहार के बाहुबली और सांसद रहे आनंद मोहन को 26 या 27 अप्रैल को जेल से रिहा किया जाएगा। रिहाई से पहले आनंद मोहन ने बड़ी बात कह दी है। उन्होंने कहा -यदि  जेल के नियमों में संशोधन नहीं भी होता तो भी मैं जेल से बाहर आ जाता। इसे लेकर आप चाहें तो कानूनी मामलो को देख लीजिये। ये मैं इसलिए कह रहा हूं कि जिस दिन ये हादसा हुआ था उस दिन मेरे से कोई चूक नहीं हुई थी, बेवजह मुझ पर आरोप लगाया गया। 

मैं किसी मायावती को नहीं जानता

आनंद मोहन के जेल से मिली रिहाई की खबर पर बसपा नेता मायावती ने बिहार की नीतीश सरकार से कहा था कि एक बार इस मामले में देख लीजिएगा। इस बाबत पूचे जाने पर आनंद मोहन ने तंज कसा और कहा-मैं किसी मायावती को नहीं जानता। कौन हैं ये मायावती, हां, मैं कलावती  को जरूर  जानता हूं। महागठबंधन की सरकार या बेटे के विधायक होने की वजह से मेरी रिहाई नहीं हुई है। 

आनंद मोहन ने आगे कहा कि जिनको जो आरोप लगाना है लगाएं.. मुझे बाहुबली कहना हो जो कहना हो कहें। मैं इन बातों पर ध्यान नहीं देता। मैं जेल से बाहर आने के बाद बिहार की राजनीति में सक्रिय हो सकता हूं। मुझे जेल का लंबा अनुभव मिला, वहां कई रास्ते हैं, कुछ अच्छा भी और कुछ बुरा भी। वहां तो खैनी-गांजा सब मिलता है। अच्छे-बुरे में से मैंने अच्छा वाला रास्ता चुना। 

आनंद मोहन की रिहाई को लेकर मायावती ने कसा तंज

बाहुबली पूर्व सांसद आनंद मोहन की रिहाई को लेकर पूरे देश में चर्चा जोरों पर है। बिहार सरकार ने विधि विभाग के तहत आनन्द मोहन के रिहाई को लेकर सोमवार को अधिसूचना जारी कर दिया है। आनन्द मोहन के बेटे और राजद विधायक चेतन आनंद की सगाई को लेकर आनंद मोहन को 15 दिनों का पे रॉल मिला है और वे जेल से बाहर हैं। इस बीच बिहार सरकार ने गिफ्ट के तौर पर चेतन आनंद को उनके पिता आनंद मोहन को रिहा करने का पत्र जारी कर बड़ा गिफ्ट दिया है । 

बता दें कि आनन्द मोहन के साथ अन्य 27 कैदियों को भी रिहा किया जा रहा है। कैदियों की रिहाई को लेकर 2012 के नियमावली को संशोधित कर अधिसूचना जारी की गई है, जिसे लेकर पूरे देश में राजनीति गरमा गई है। मायावती ने तो इस नियमावली और रिहाई पर सवाल खड़ा करते हुए कहा है कि ये तो दलितों के साथ अन्याय हो रहा है। बता दें कि आनन्द मोहन के ऊपर जिस आईएएस अधिकारी की हत्या का आरोप लगा है वह दलित समाज से थे।

ये भी पढ़ें:

अनोखी चोरियों में नंबर 1 है बिहार, जानिए इस बार क्या चोरी हो गया

युवक ने एक से की अरेंज मैरिज, 4 दिन बाद दूसरी से लव मैरिज, 15-15 दिन रहता था दोनों पत्नियों के साथ, अब पहुंचा हवालात

Source link

Leave a Comment

ख़ास ख़बरें

जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह की धर्मपत्नी श्री कला ने गृह मंत्री अमित शाह से की मुलाकात

पूर्व सांसद धनंजय सिंह की पत्नी श्री कला ने गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। श्री कला ने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन कर लिया

Read More »

लखनऊ मे पूर्व सीएम अखिलेश यादव और दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने एकसाथ मिलकर की प्रेस कॉन्फ्रेंस

  लखनऊ मे  दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लखनऊ में समाजवादी पार्टी के कार्यालय में पूर्व मुख्यमंत्री सपा मुखिया अखिलेश यादव के साथ प्रेस

Read More »

जनसत्ता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजा भइया ने महामंडलेश्वर संतोष दास से लिया आशीर्वाद

चित्रकूट मे गुरुवार को प्रवास के दूसरे दिन जनसत्ता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजा भइया ने अपने सुपुत्रों संग प्रातः काल में चित्रकूट पधारे प्रसिद्ध

Read More »

ताजातरीन