Search
Close this search box.

bihar bahubali leader anand mohan singh statement on beginning his political journey after coming out from jail । आनंद मोहन 2024 में लड़ेंगे चुनाव? BJP में जाने के सवाल पर तोड़ी चुप्पी

Share this post

anand mohan singh- India TV Hindi
Image Source : PTI
पत्नी लवली के साथ आनंद मोहन

पटना: बिहार में पूर्व सांसद और बाहुबली नेता आनंद मोहन की जेल से रिहाई बहुत जल्द होने वाली है। बिहार सरकार के जेल नियमावली में बदलाव के बाद उम्र कैद की सजा काट रहे आनंद मोहन फिलहाल पैरोल पर जेल के बाहर हैं। इधर, आनंद मोहन की रिहाई को लेकर कानून में हुए बदलाव को लेकर अब सियासत गर्म हो गई है। बिहार सरकार ने आनंद मोहन सहित 27 कैदियों को जेल से रिहाई के संबंध में अधिसूचना जारी की है। आनंद मोहन को 1994 में गोपालगंज के जिलाधिकारी जी कृष्णया की हत्या के मामले में दोषी ठहराया गया था और वे आजीवन कारावास की सजा काट रहे थे।

दरअसल, बिहार सरकार कारा हस्तक से उस वाक्यांश को ही विलोपित कर दिया था, जिसमें सरकार कर्मचारी की हत्या का जिक्र था। बिहार सरकार ने बिहार कारा हस्तक 2012 में यह संशोधन किया था। बिहार सरकार के विधि विभाग ने आनंद मोहन समेत 27 कैदियों को जेल से रिहा करने का आदेश जारी कर दिया।

BJP में शामिल होंगे आनंद मोहन?


वहीं, आनंद मोहन की रिहाई के बाद अब बिहार की राजनीति में कई तरह की अटकलें लगने लगी हैं। बताया जा रहा है कि जेल से छूटने के बाद वह अपना राजनीतिक करियर नए सिरे से शुरू करेंगे। उन्होंने 2024 के लोकसभा चुनाव लड़ने के भी संकेत दिए हैं। हालांकि अभी यह नहीं बताया कि जेल से निकलने के बाद किस पार्टी में शामिल होंगे। जब मंगलवार को उनसे पूछा गया कि भाजपा भी आपकी रिहाई की मांग करती रही है, तो ऐसे में किस पार्टी से राजनीतिक करियर का पार्ट-2 शुरू करेंगे। इसपर आनंद मोहन ने कहा कि बेटे की शादी के बाद फिर से जेल जाना है। फिर जब रिहाई पर ठप्पा लगेगा, तो लोगों को बुलाकर तय करेंगे कि क्या करना है। आनंद मोहन ने कहा कि मैं मरा नहीं हूं, जेल में ही था इसलिए राजनीतिक सफर का अंत नहीं हुआ है।

anand mohan

Image Source : FILE PHOTO

परिवार के साथ आनंद मोहन

आनंद मोहन की रिहाई पर सियासत गर्म

इधर, इस नियम में बदलाव के बाद बिहार की सियासत गर्म हो गई है। बिहार में सत्ताधारी जनता दल युनाइटेड के अध्यक्ष ललन सिंह ने मंगलवार को अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती और भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट कर लिखा “आनंद मोहन की रिहाई पर अब भाजपा खुलकर सामने आई है। पहले तो यूपी की अपनी बी टीम से विरोध करवा रही थी। भाजपा को यह पता होना चाहिए कि नीतीश कुमार के सुशासन में आम व्यक्ति और खास व्यक्ति में कोई अंतर नहीं किया जाता है। आनंद मोहन ने पूरी सजा काट ली और जो छूट किसी भी सजायाफ्ता को मिलती है वह छूट उन्हें नहीं मिल पा रही थी क्योंकि खास लोगों के लिए नियम में प्रावधान किया हुआ था। नीतीश कुमार ने आम और खास के अंतर को समाप्त किया और एकरूपता लाई तब उनकी रिहाई का रास्ता प्रशस्त हुआ। अब भाजपाइयों के पेट में न जाने दर्द क्यों होने लगा है।”

उन्होंने कहा, “भाजपा का सिद्धांत ही है विरोधियों पर पालतू तोतों को लगाना, अपनों को बचाना और विरोधियों को फंसाना है, वहीं नीतीश कुमार के सुशासन में न तो किसी को फंसाया जाता है न ही किसी को बचाया जाता है।”

यह भी पढ़ें-

मायावती ने क्या कहा?

इससे पहले यूपी की पूर्व सीएम मायावती ने ट्वीट कर इस निर्णय के पुनर्विचार करने की बात कही। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि बिहार की नीतीश सरकार द्वारा, आन्ध्र प्रदेश (अब तेलंगाना) महबूबनगर के रहने वाले गरीब दलित समाज से आईएएस बने बेहद ईमानदार जी. कृष्णया की निर्दयता से की गई हत्या मामले में आनंद मोहन को नियम बदल कर रिहा करने की तैयारी देश भर में दलित विरोधी निगेटिव कारणों से काफी चर्चाओं में है। उन्होंने आगे कहा कि आनंद मोहन बिहार में कई सरकारों की मजबूरी रहे हैं, लेकिन गोपालगंज के तत्कालीन डीएम कृष्णया की हत्या मामले को लेकर नीतीश सरकार का यह दलित विरोधी व अपराध समर्थक कार्य से देश भर के दलित समाज में काफी रोष है। चाहे कुछ मजबूरी हो किन्तु बिहार सरकार इस पर जरूर पुनर्विचार करे।

बता दें कि आनंद मोहन इन दिनों घर में मांगलिक कार्य को लेकर पेरोल पर जेल से बाहर हैं। सोमवार को उनके बेटे की सगाई थी, जिसमें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और जदयू के अध्यक्ष ललन सिंह भी पहुंचे थे।

Latest India News

Source link

Leave a Comment

ख़ास ख़बरें

विंध्याचल मंदिर से मुंडन संस्कार कराकर वापस जा रही बुलारो गाड़ी,खजुरी बाजार के पास खड़ी डंपर में जा भिड़ी, 10 लोग घायल

विंध्याचल मंदिर से मुंडन संस्कार कराकर वापस अपने घर तारुन जा रहे थे तभी खजुरी बाजार के पास खड़ी डंपर में टकरा गई…. भीटी अंबेडकर

Read More »

पुलिस आयुक्त, प्रयागराज द्वारा जनपद में VVIP आगमन, भ्रमण एवं जनसभा कार्यक्रम के दृष्टिगत दिए गए आवश्यक दिशा-निर्देश…..

  प्रयागराज मे पुलिस आयुक्त, प्रयागराज द्वारा जनपद में वीवीआईपी आगमन, भ्रमण एवं जनसभा कार्यक्रम के दृष्टिगत रिजर्व पुलिस लाइन सभागार में डी-ब्रीफिंग की गयी…..

Read More »

उत्तर मध्य रेलवे द्वारा,अनियमित यात्रा और स्टेशन परिसर/गाड़ी में गंदगी फ़ैलाने वाले 65 यात्रियों क़ो किया चालान

प्रयागराज से कानपुर सेन्ट्रल के मध्य 05 सुपरफास्ट गाड़ियों, 15483 अलीपुर द्वार-नई दिल्ली सिक्किम महानंदा एक्सप्रेस, 12311 हावड़ा-कोलकाता नेताजी सुपरफास्ट एक्सप्रेस, 12506 आनंद विहार टर्मिनल-कामाख्या

Read More »

ताजातरीन